Scrollup

देर आए दुरुस्त आए: AAP सरकार की सस्ती बिजली-मुफ्त पानी योजना से सीख लेते हुए ही मोदी सरकार ने किया है सौभाग्य बिजली योजना का एलान

 

बीजेपी नेताओं का दोगलापन: जो बीजेपी नेता AAP सरकार की सस्ती बिजली और मुफ्त पानी की स्कीम का मज़ाक उड़ाते थे वही अब मोदी सरकार की योजना पर तालियां बजा रहे हैं।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अब केजरीवाल मॉडल ऑफ़ गवर्नेंस को अपना रहे हैं। दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार के द्वारा दिल्ली के लोगों को दी जा रही सस्ती बिजली और मुफ्त पानी की स्कीम से सीखते हुए और ठीक उसी तर्ज़ पर मोदी सरकार ने भी सोमवार को सौभाग्य योजना के तहत हर परिवार को बिजली देने और ग़रीब परिवारों को फ्री बिजली देने की योजना का एलान किया है।

लेकिन मोदी सरकार की इस योजना को देखने से पहले यह भी देखना ज़रुरी है कि इसी मोदी सरकार ने साल 2016 में ये एलान किया था कि मई 2017 तक हर परिवार को बिजली दी जाएगी लेकिन मोदी सरकार अपने इस लक्ष्य को पूरा ही नहीं कर पाई और तय मियाद निकल भी गई है।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता आशुतोष ने पार्टी के राष्ट्रीय कार्यालय में पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि ‘सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ प्रमुख घोषणाएं की जिनमें दिसंबर 2018 तक देश में हर घर के लिए बिजली का कनेक्शन शामिल है, इसमें चार करोड़ परिवारों के लिए मुफ्त बिजली कनेक्शन भी शामिल हैं। देर से ही सही लेकिन प्रधानमंत्री महोदय ने अंत में सही दिशा में ये कदम उठाया तो सही। हम ग़रीबों के कल्याण की इस योजना के लिए प्रधानमंत्री महोदय को बधाई देते हैं।

आम आदमी पार्टी का मानना है कि देश के हर ग़रीब परिवार को निशुल्क बुनियादी सुविधाएं मिलनी ही चाहिए और उसका वहन सरकार को उठाना चाहिए।

आम आदमी पार्टी की सरकार ने साल 2013-2014 में अपनी 49 दिन की सरकार में और फिर साल 2015 में भी ग़रीबों को ये फ़ायदा राजधानी दिल्ली में दिया जिसमें सस्ती बिजली और मुफ्त पानी मुहैय्या कराया। लेकिन प्रधानमंत्री महोदय को यह काम करने में साढ़े तीन साल लग गए।

यहां एक बात ध्यान देने योग्य है और वो ये कि बीजेपी के जो नेता आज प्रधानमंत्री की मुफ्त बिजली योजना पर तालियां बजा रहे हैं वही बीजेपी नेता तीन साल पहले दिल्ली की केजरीवाल सरकार द्वारा दिल्ली के लोगों को दी जा रही सस्ती बिजली और हर परिवार को 20 हज़ार लीटर प्रति महीने मुफ्त पानी की स्कीम का मीडिया के माध्यम से मज़ाक उड़ा रहे थे। बीजेपी के वो नेता केजरीवाल सरकार की योजना को अर्थव्यवस्था के ख़िलाफ़ बता रहे थे लेकिन आज वही बीजेपी के नेता प्रधानमंत्री की योजना पर तालियां बजाकर अपना दोहरा चरित्र पेश कर रहे हैं।

देखिए आखिर पहले भाजपा नेता क्या कहते थे:-

6 फरवरी 2014 को बीजेपी नेता और वर्तमान में केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने मीडिया में दिए अपने बयान में आम आदमी पार्टी की सरकार के फ्री बिजली-पानी की योजना का मज़ाक उड़ाया था

Blog: AAP will create power-free Delhi, not free power

 https://www.ndtv.com/blog/blog-aap-will-create-power-free-delhi-not-free-power-549920

 

1 जनवरी 2014 को उस वक्त के राज्यसभा में विपक्ष के नेता और वर्तमान में केंद्रीय वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली ने भी अपने एक लेख में आम आदमी पार्टी की सरकार की फ्री बिजली-पानी योजना का माखौल उड़ाया था –

https://www.arunjaitley.com/delhi-governments-water-subsidy/

साथ ही मोदी सरकार के वर्तमान कैबिनेट मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी केजरीवाल सरकार की फ्री बिजली-पानी की योजना का मज़ाक उड़ाते हुए कहा था कि बिजली में सब्सिडी सभी को नहीं दी जानी चाहिए

http://indiatoday.intoday.in/story/dharmendra-pradhan-takes-swipe-arvind-kejriwal-power-subsidies-not-for-rich/1/927787.html

 

आम आदमी पार्टी देश के प्रधानमंत्री को कहना चाहती है कि अभी भी देर नहीं हुई है, मोदी सरकार को भी AAP के बिजली और पानी के मॉडल का पालन पूरे देश में करना चाहिए और हम उम्मीद करते हैं कि प्रधानमंत्री जी बीजेपी शासित राज्यों से भी कहेंगे कि वो दिल्ली के केजरीवाल मॉडल ऑफ़ गवर्नेंस की तर्ज़ पर आम आदमी पार्टी की सरकार के सस्ती बिजली और मुफ्त पानी की स्कीम को अपने-अपने राज्य में भी लागू करें ताकि ग़रीबों को भी बुनियादी सुविधाएं निशुल्क मिल सकें।

 

प्रेस कॉंफ्रेंस का पूरा वीडियो आप यहां देख सकते हैं-

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

Ravi Brahmapuram

1 Comment

    • MANEESH JAIN

      Well done at last indirectly PM ALSO recognize our policies towards people’s interest.with another name same scheme is launching by PM

      reply

Leave a Reply to MANEESH JAIN Cancel reply